Moral Stories

Top 10 Moral stories in Hindi For Kids

Moral Story Short In Hindi

Moral Story Short In Hindi

Hello, बच्चो आपको इस पोस्ट पर Moral Story Short In Hindi का बेस्ट कलेक्शन मिल जायेगा | जिसे पड़कर आपको बहुत कुछ सीखने को मिलेगा | सारी हिंदी कहानिया एक से बढकर एक है, जिसके अंत में उस कहानी का moral भी आपको बताया गया है | तो चलो कहानिया पढना शुरू करते है:-

Top 10 Story in Hindi to Read:-

  1. Pigeon and Rat (कबूतर और चूहा-दोस्ती की कहानी )
  2. Tit For Tat (जैसे को तैसा-धोखे की सजा )
  3. The Foolish Donkey (मूर्ख गधा और बूढ़ा शेर की कहानी  )
  4. The Golden Swan (सुनहरा हंस-लालची औरत की कहानी )
  5. Foolish Priest (मूर्ख ब्राम्हण और ठगों की कहानी )
  6. Foolish Crow and Cunning Fox (मूर्ख कौआ और चतुर लोमड़ी)
  7. Blue Jackal (नीला सियार )
  8. Powe Of Rumour (अफवाह की ताकत)
  9. The Hidden Treasure (छिपा खजाना मेहनत की कमाई  )
  10. The Clever Goat (चतुर बकरी और शेर की कहानी )

1. कबूतर और चूहे की दोस्ती कहानी (Story in Hindi to Read) 

एक दिन एक कबूतरों का झुंड जंगल के उपर मंडरा रहा था | तभी उन्होंने ज़मीन पर कुछ दाना बिखरा देखा | सभी ज़मीन पर उतर आये और दाना चुगने लगे | उन्होंने दाने के उपर पड़े जाल को नही देखा और वे सभी जाल में फंस गये |

एक दिन एक कबूतरों का झुंड जंगल के उपर मंडरा रहा था | तभी उन्होंने ज़मीन पर कुछ दाना बिखरा देखा | सभी ज़मीन पर उतर आये और दाना चुगने लगे | उन्होंने दाने के उपर पड़े जाल को नही देखा और वे सभी जाल में फंस गये|

उन्हें जाल में फंसा देख बहेलिया बहुत ही ज्यादा खुश हुआ | “ इतने सारे पंछी एक साथ फंस गये , आज तो मेरी कमाई पूरी हो गयी | ” ऐसा होने के बाद उसने पहले सोचा और निश्चय किया कि बह भोजन खाकर पंछियों को बेचने बाज़ार ले जायेगा |https://mindworldacademy.com/quotes-on-life-challenges/

एक दिन एक कबूतरों का झुंड जंगल के उपर मंडरा रहा था | तभी उन्होंने ज़मीन पर कुछ दाना बिखरा देखा | सभी ज़मीन पर उतर आये और दाना चुगने लगे | उन्होंने दाने के उपर पड़े जाल को नही देखा और वे सभी जाल में फंस गये |

सभी कबूतर अपने आपको आजाद करवाने के लिए जी जान लगाकर , पूरी ताकत के साथ अपने पंख फरफरा रहे थे कि किसी तरह उनकी जान बच जाये तभी कबूतरों के मुखिया ने कहा – “अब हम सबको मिलकर काम करना पड़ेगा ” क्योकि एकता में बहुत शक्ति होती हे और हर मुश्किल काम को बड़ी आसानी से पूरा किया जा सकता हे |

ऐसा कहकर मुखिया ने सबसे कहा में जैसे ही पांच तक गिनती गिनुगा उसके साथ ही हम सभी को जोर लगाकर उड़ जाना है | गिनती के साथ ही सभी कबूतर जाल में फंसे फंसे ही उड़ गये और वे सभी इसमें कामयाब भी हुए | कबूतरों का झुंड काफी देर तक उड़ता रहा फिर एक चूहे के बिल के पास उतरा | कबूतरों के मुखिया ने अपने दोस्त चूहे को पुकारा |

चूहा झट से अपने परिवार सहित वहा आया और सबने फटा फट जाल काटकर कबूतरों को आजाद कर दिया |

 

2. जैसे को तैसा (Story in Hindi to Read)

भोला और शरद बहुत अच्छे दोस्त थे | अभी अभी भोला अपनी काफी धन-दौलत और जायदाद आदि गवा चूका था और वह बहुत उदास था | यह सब होने से वह एक बड़े शहर में जाकर अपनी किस्मत अजमाना चाहता था | भोला के पास काफी सारे लोहे के पुराने बर्तन थे |

उन्हें लेकर वह शरद के घर आया और उससे विनती की कि वह उसके लौटकर आने तक उन बर्तन को अपने पास हिफाजत से रख ले | एक साल गुजर जाने के बाद जब भोला ने वापस आकर शरद से जब अपने बर्तन मांगे तो उसने कहा , मित्र वो सारे बर्तन तो चूहे खा गये |

यह सुनकर भोला बहुत दुखी हुआ और उसे पता था की उसका दोस्त शरद उसे झूठ बोल रहा हे परन्तु उसने कुछ नही कहा और चुपचाप वहा से चला गया | कुछ दिन बाद उसने शरद से कहा कि वह अपने बेटे को उसके साथ भेज दे | उसने बताया कि वह बाहर से उसके लिए लाय गये उपहार उसे देना चाहता है |Story in Hindi to Read

उपहार का नाम सुनते ही शरद ने फटाफट अपने बेटे को भोला के साथ भेज दिया | समय गुजरता गया और रात हो गई परन्तु शरद का बेटा वापस नही आया | शरद काफी चिंता में था तभी शरद और उसकी पत्नी भागे भागे भोल के घर पहुचे और पूछा की हमारा बेटा कहा है ? भोला ने बताया की बहुत गजब हो गया, उसने बताया की घर वापस आते समय एक चील उनके बेटे को उड़ाकर ले गई |

शरद बहुत गुस्सा हुआ और उसको समझने में देर न लगी की भोला उससे बदला ले रहा है | वह न्याय मागने राजमहल जा पंहुचा | राजा ने उन दोनों को एक साथ मिलने के लिए दरबार में बुलाया | राजा ने भोला से पूछा, “ दस वर्ष के एक लड़के को चील उड़ाकर कैसे ले जा सकती हे ?” भोला ने झट से जबाब दिया, “महाराज जब लोहे के बर्तन को चूहे खा सकते है ठीक उसी प्रकार चील भी आसानी से लड़के को उड़ाकर ले जा सकती है |”

यह सुनकर शरद अपने आप पर बहुत शर्मिंदा हुआ उसने अपनी गलती स्वीकार की और उसने भोला को उसके सारे बर्तन वापस कर दिए | अगले दिन उसे अपना बेटा वापस मिल गया |

Best 5 Hindi kahaniya For kids

  1. Tit For Tat (Moral Story Short In Hindi)
  2. Foolish Donkey (Moral Story Short In Hindi)
  3. Crow And Snake (Moral Story Short In Hindi)
  4. Kind Elephant (Moral Story Short In Hindi)
  5. The Hidden Treasure(Moral Story Short In Hindi)

Motivational Story in Hindi for Success

Related posts

जैसे को तैसा [Jaise Ko Taisa Story In Hindi]

Deepak Gupta

Essay on Diwali | Story Behind Diwali

Deepak Gupta

Best 5 Short Moral Stories In Hindi

WebKahaniya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

GIPHY App Key not set. Please check settings

close