Life Success Quotes

Chanakya Niti In Hindi-सफलता के 10 सूत्र

सफलता के 10 सूत्र [ चाणक्य नीति ]

Chanakya Niti In Hindi Pdf Free Download

चाणक्य की चेतावनी युवाओं के लिए चाणक्य ने हर उम्र के लिए। कुछ ना कुछ बातें कहीं हैं दोस्तों आज की यह बातें युवाओं को जरूर ध्यान में रखना चाहिए

क्योंकि किसी भी देश का युवा उस देश की शक्ति होते हैं युवा उस देश की संस्कृति और देश की धरोहर होते हैं इसलिए चाणक्य ने युवाओं के लिए कुछ बातें ध्यान में रखने के लिए कहा है

1) पहला क्रोध:-

क्रोध हमारा सबसे बड़ा दुश्मन होता है क्रोध करने से व्यक्ति की सोचने समझने की शक्ति नष्ट होती है । जो व्यक्ति क्रोध करता है वह किसी की भावना Emotion को नहीं समझ सकता ।

क्रोध करने वाले व्यक्ति को कोई भी आसानी से कंट्रोल कर सकता है , और क्रोध दिला कर अपने लक्ष्य से भटका भी सकता है । इसीलिए कोशिश करो कि आप गुस्से से दूर ही रहो।

2) लालच:-

लालच युवाओं के अध्ययन के मार्ग का सबसे बड़ा बाधक माना जाता है , हमारी युवा पीढ़ी को कभी किसी भी चीज का लालच नहीं करना चाहिए।

 3) स्वाद:- 

युवा अवस्था के छात्र का जीवन एक तपस्वी की तरह माना जाता है,चाणक्य कहते है कि युवाओं को चटपटा और स्वादिष्ट खाना खाने की आदत छोड़ देनी चाहिए।

युवा अवस्था में सिर्फ वही आहार ग्रहण करना चाहिए जो उनके शरीर को फिट और हेल्दी रखें। खाना उतना ही खाना चाहिए कि खाने के बाद उनका Personal काम भी कर सकें ,

ज्यादा खाने से युवा को आलस्य आ सकता है। हां क्योंकि आलस करने वाले युवा का ना तो कोई वर्तमान होता है ना ही कोई भविष्य |

“नयी युवा पीढ़ी को धैर्य रखना बहुत जरुरी होता हैं।“Chanakya Niti in Hindi Pdf Download

 4) फैशन:- 

फैशन पर ध्यान ना दें युवा और विद्यार्थियों को सादा और साफ-सुथरे कपड़े ही पहनना चाहिए। अपने फैशन पर ज्यादा ध्यान नहीं देना चाहिए क्योंकि ज्यादा फैशन और सजने सवरने से युवाओं का मन भटकता है।
इसलिए कॉलेज स्कूल में एक सी ड्रेस सी होती है कि सभी लोग समान लगे ।

5) मनोरंजन कम करें:-

चाणक्य का मानना है कि युवाओं को छात्रों को मनोरंजन नुकसानदायक होता है जितना जरूरी है उतना ही मनोरंजन करें।   कोई भी चीज ज्यादा मत करें।

6) भरपूर नींद ले:-

बेहतर सेहत के लिए अच्छी नींद जरूरी होती है पर्याप्त मात्रा में नींद ना लेने से शरीर में आलस से बढ़ता है और सेहत भी बिगड़ सकती है । इसलिए बहुत सारे काम भी रुक सकते हैं पर्याप्त मात्रा में नींद लेना हमारी सेहत को सही रखता है|Chanakya Niti in Hindi Pdf[Chanakya Niti in Hindi Pdf]

7) चालक बने:-

आपको चालक इसलिए नहीं बनना कि अब दूसरों को बेवकूफ बना सको आपको चालक इसलिए बनाना है ताकि कोई आपको बेवकूफ ना बना सके।

8) किताबें पड़ो:-

चाणक्य अनुसार हमें हर क्षेत्र से जुडी जानकारी रखनी चाहिये और किताबे हमे कम समय ज्यादा जानकारी सकती हैं हमें चालक भी बनाती हैं आइये जानते है की किताबे पढ़ने क्या क्या फायदे होते हैं:-

Reading Advaltages –

  • हमारी मेमोरी पॉवर बढती हैं।
  • हमारी सोच Flexible होती हैं।
  • Personal Growth बढ़ती हैं।
  • हमारा व्यक्तित्व सुधार जाता हैं।
  • बात करने का तरीका बदलता है
  • बातों को नये तरीके से बोलने के लिये नये शब्द मिलते हैं।
  • Imagination and Visualization power बढती हैं।
  • Creative power बढ़ती हैं।
  • Problem solving power बढती हैं।
  • Relax एंड फील फ्रेश होता है।

[Chanakya Niti in Hindi Pdf]

 9) ज्यादा समय बर्बाद ना करें:-

समय बहुत कीमती होता है तो युवाओं को अपना ज्यादा समय वेस्ट नहीं करना चाहिए। चाणक्य को पता था कि युवा गप्पे और मस्ती करने में बहुत जल्दी लीन हो जाते हैं तो को कोशिश करो ,

अपना ज्यादा समय सही उपयोग में लाओ ज्यादा से ज्यादा समय में पढ़ाई और अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के बारे में सोचो ।और अपने लक्ष्य को अपने मन में रखो और उसका चिंतन करते रहो।।

[Chanakya Niti in Hindi Pdf]

10) कामवासना:-

कामवासना हमारे देश के युवाओं को कामवासना से दूर ही रहना चाहिए अगर युवा कामवासना में उलझता है तो अपने काम पढ़ाई पर ध्यान नहीं दे पाता।

कामवासना की भावना से युवा निष्क्रिय हो जाता है ,जबकि वह उम्र सिर्फ सीखने की होती है। इसलिए युवाओं को काम वासना से दूर ही रहना चाहिए अपनों से भी भटक सकते हैं।

[Chanakya Niti in Hindi Pdf]

Best 5 Hindi kahaniya For kids

  1. Tit For Tat (Best Story In Hindi)
  2. Foolish Donkey (Moral Stories In Hindi)
  3. Crow And Snake (Fairy tales stories for kids)
  4. Kind Elephant (Fairy tales stories for kids)
  5. The Hidden Treasure(Short moral stories in Hindi)

Chanakya Niti in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

GIPHY App Key not set. Please check settings

close